सुशांत को न्याय दिलाने बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने शुरू की यह मुहिम….



दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत को न्याय दिलाने के लिए उनकी बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने सोशल मीडिया पर एक नई मुहिम की शुरुआत की है। जिसका नाम है, “#WarriorsRoar4SSR”…..श्वेता ने सोशल मीडिया पर भाई का फोटो शेयर करते हुए लिखा है। we stay united!#warriorsRoar4ssr.

इस अभियान के तहत सुबह 9 से रात 9 बजे तक एक हैशटैग को ट्वीट, रीट्वीट ओर शेयर किया जाएगा। श्वेता ने इस अभियान के तहत सुशांत के फैन्स को फिर एकजुट होने के लिए कहा है। आपको बता दें कि सुशांत की बहन श्वेता सिंह पिछले ढाई माह से अपने भाई के लिए अभियान चला रही है। ताकि किसी भी प्रकार से उनके भाई सुशांत को न्याय मिले। इस बीच अब उन्होंने नई मुहिम की शुरुआत की है।

बता दें कि इस मामले में सुशांत के परिवार ने रिया चक्रवर्ती को मुख्य आरोपी बताया है। इस केस की जांच सीबीआई, ईडी के साथ एनसीबी भी कर रही है। इस मामले में एनसीबी ने ड्रग्स कनेक्शन के चलते रिया चक्रवर्ती को गिरफ्तार किया है और वह इस वक्त जेल में हैं।



Source link

KMC co-morbidity survey in south Kolkata | Kolkata News


KOLKATA: The civic body on Wednesday conducted a co-morbidity survey in large areas of Tollygunge, New Alipore and Kalighat, which includes one of the biggest slums in the city. The survey, which the KMC health department took up in coordination with the state health department, will take stock of co-morbidity factors prevailing among city’s population, especially in Covid-19-sensitive areas.
SSKM hepatology head Abhijit Chowdhury, also a public health activist, on Wednesday visited some areas under KMC’s Borough X, which housed slums, for quality check of the Covid co-morbidity survey. While the survey is an initiative of KMC and the state health department, Covid Care Network (CCN) is providing technical and logistic support.
“The survey will help at least in three ways. One, triaging for care. By identifying people with co-morbidity, they can be made aware of their vulnerability to Covid. They can be taught early signs of turbulence so that there is no delay in seeking medical help,” said Chowdhury. “Second, people with co-morbid conditions can be given telemedicine, counselling facilities. And third, we will have a data to take priority call when a vaccine is available.”
The survey will be done in phases. “In the first, workers will select areas to collect data on types of co-morbidities.. The survey will last for two weeks,” the official said.



Source link

मैगजीन फोटोशूट में Sara Ali Khan का आउटफिट देख भड़के यूजर्स, कमेंट कर कहा-'लगता है तुम्हारे पिता से बात करनी पड़ेगी'



नई दिल्ली। बॉलीवुड अभिनेता सैफ अली खान और उनकी एक्स वाइफ अमृता सिंह की लाडली Sara Ali Khan अपनी मासूमियत से लाखों लोगों का दिल जीत लेती हैं। जिस तरह से वह मीडिया से और लोगों से मिलती हैं। उनका वह अंदाज लोगों को उनका दीवाना बना देता है। लेकिन अक्सर चुलबुली सारा भी अपने स्टाइल की वजह से ट्रोल हो जाती हैं। हाल ही में उन्होंने एक मैगजीन के लिए बोल्ड फोटोशूट कराया था। जिसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई। सारा की यह तस्वीरें देख सोशल मीडिया पर लोग भड़क गए और कमेंट बॉक्स में अभिनेत्री पर अपना गुस्सा उतारने लगे।

मैगजीन के लिए फोटोशूट करा रहीं सारा ने तस्वीरों में गोल्डन शिमर ड्रेस को पहना है। ब्लैक ड्रेस में वह काफी खूबसूरत लग रही हैं। लेकिन सारा की यह तस्वीरें कुछ लोगों को बिल्कुल भी पसंद नहीं आईं। ट्रोलर्स ने सारा की तस्वीरों पर कई भद्दे कमेंट्स करना शुरू कर दिया। एक यूजर ने कमेंट करते हुए ‘सारा को दिशा पाटनी ना बनने तक की सलाह तक दे डाली।’ वहीं एक यूजर ने कमेंट में लिखा- ‘लगता है कि मुझे तुम्हारे पिता से बात करनी होगी।’ आपको बता दें ऐसा नहीं कि जब सारा को ट्रोलिंग का सामना करना पड़ा हो। इससे पहले भी भाई इब्राहिम खान संग बिकनी में तस्वीरें खिंचवाने पर भी एक्ट्रेस को खूब बुरा-भला सुनना पड़ा था।

2018 में सारा ने दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत संग फिल्म ‘केदारनाथ’ में डेब्यू किया था। वहीं इन दिनों सुशांत केस में यह बात भी सामने आई है कि फिल्म के दौरान सारा और सुशांत एक-दूसरे को डेट कर रहे थे। जिस पर अभी तक सारा की तरफ से कोई भी रिएक्शन सामने नहीं आया है। वहीं दूसरी फिल्म सारा ने एक्टर रणवीर सिंह की थी। जिसका नाम ‘सिंबा’ था। लॉकडाउन से पहले उनकी फिल्म ‘लव आज कल 2’ रिलीज़ हुई थीं। जो बुरी तरह से सिनेमाघरों में फ्लॉप साबित हुई। वहीं जल्द ही अब एक्ट्रेस ‘कुली न.1’ और ‘अतरंगी रे’ में नज़र आने वाली हैं।



Source link

BSF rescues Bangladeshi woman in West Bengal | Kolkata News


KOLKATA: A 25-year old Bangladeshi woman has been rescued by Border Security Force (BSF) near the Indo-Bangladesh border in West Bengal, a statement issued by the paramilitary force said.
A civic police volunteer who was allegedly facilitating the woman’s return to Bangladesh was apprehended by the border guards.
While carrying out routine checks on Wednesday, troops of BSF’s South Bengal Frontier, posted at Hakimpur border outpost in North 24 Parganas district, spotted a woman suspiciously moving towards Bangladesh.
The woman, identified as Aina Bibi – a resident of Khulna district of the neighbouring country – was apprehended by BSF when she could not produce any valid travel document, the statement said.
During interrogation, the woman revealed that she had come to India by illegally crossing the international boundary two months ago.
After reaching India, the woman went to Barasat in North 24 Parganas district searching for work but when she did not get any job opportunity due to the lockdown, she decided to return home.
While trying to go back to Bangladesh on Tuesday, she was intercepted by a civic police volunteer near Swarupnagar in the same district.
The civic police volunteer took her to Swarupnagar police station and allegedly demanded Rs 50,000 from the woman for sending her back to Bangladesh by crossing the international boundary illegally.
When the woman told him that she had no money to pay, she was asked by him to call her family members and ask them to transfer the money into his bank account. She refused the offer and said she had Rs 5,000 in her wallet.
The person took away the money and kept her in a house for the night. The next day, she was handed over to another man for enabling her to reach Bangladesh, the statement said.
The man directed her to go towards the checkpost and left the spot. Subsequently, the woman was intercepted by BSF personnel at Hakimpur checkpost.
After coming to know that the person was a civic police volunteer with Swarupnagar police station, he was apprehended by the border guards and the woman was handed over to the police station.



Source link

Rain alert for Tamil Nadu for the next 24 to 48 hours fishermen alert | தமிழகத்தில் இங்கெல்லாம் கன மழை பெய்யக்கூடும்: மீனவர்கள் எச்சரிக்கை!!


இந்தியாவில் பல்வேறு மாநிலங்களில் பருவமழை (Monsoon) பெய்து வருகிறது. தமிழகத்திலும் அவ்வப்போது நல்ல மழை பெய்துகொண்டிருக்கின்றது.

தமிழகத்தில் அடுத்த 24 மணி நேரத்திற்கு வெப்பச்சலனம் மற்றும் மேலடுக்கு சுழற்சி காரணமாக நீலகிரி மாவட்டத்தில் ஓரிரு இடங்களில் கன முதல் மிக கன மழை பெய்ய வாய்ப்புள்ளதாக சென்னை வானிலை ஆய்வு மையம் (Chennai Meteorological Centre) தெரிவித்துள்ளது. இது தவிர கிருஷ்ணகிரி, தர்மபுரி, ஈரோடு, நாமக்கல், சேலம், ஆகிய

மாவட்டங்களில் ஓரிரு இடங்களில் கன மழை பெய்ய வாய்ப்புள்ளது. திருச்சி, வேலூர், திருவண்ணாமலை, கடலுர், விழுப்புரம், கள்ளக்குறிச்சி, பெரம்பலூர், திண்டுக்கல், கரூர் ஆகிய மாவட்டங்களில் ஓரிரு இடங்களில் இடியுடன் கூடிய லேசான அல்லது மிதமான மழை பெய்யக்கூடும். வட கடலோர மாவட்டங்களில் ஓரிரு இடங்களில் லேசான மழை பெய்யக்கூடும்.

அடுத்த 48 மணி நேரத்திற்கும் மேற்கூறிய வானிலை முன்னறிவிப்பையே வானிலை ஆய்வு மையம் வழங்கியுள்ளது. மேலே குறிப்பிடப்பட்டுள்ள அனைத்து மாவட்டங்களிலும் அடுத்த 48 மணி நேரங்களில் லேசான முதல் மிதமான மழை பெய்யக்கூடும்.

தலைநகர் சென்னை (Chennai) மற்றும் புறநகர் பகுதிகளில் அடுத்த 48 மணி நேரத்திற்கு வானம் மேகமூட்டத்துடன் காணப்படும். சென்னை நகரின் சில பகுதிகளில் லேசான மழை பெய்ய வாய்ப்புள்ளது. அதிகபட்ச வெப்பநிலை 35 டிகிரி செல்சியசாகவும் குறைந்தபட்ச வெப்பநிலை 26 டிகிரி செல்சியசாகவும் பதிவாகலாம்.

 வரும் நாட்களில் மழையின் அளவு அதிகரிக்கலாம் என்ற கணிப்பு இருப்பதால் மீனவர்களுக்கான எச்சரிக்கையும் விடுக்கப்பட்டுள்ளது.

ALSO READ: 2100-ல் உலக மக்கள் தொகையில் டாப் 10 நாடுகளின் பட்டியல் இதோ!!

செப்டம்பர் 10ஆம் தேதி முதல் செப்டம்பர் 14 வரை, 45-55 கிலோமீட்டர் வேகத்தில் கேரளா, கர்நாடக கடலோரப் பகுதிகள் மற்றும் லட்சத்தீவு பகுதிகளில் பலத்த காற்று வீசக்கூடும் என்றும், செப்டம்பர் 10,11 ஆகிய தேதிகளில் தென்மேற்கு அரபிக்கடல் பகுதிகளில் பலத்த காற்று 45-55 கிலோமீட்டர் வேகத்தில் வீசக்கூடும் என்றும் கணிக்கப்பட்டுள்ளது. செப்டம்பர் 10ஆம் தேதி தென்கிழக்கு வங்கக்கடல் மற்றும் அதனை ஒட்டிய அந்தமான் கடல் பகுதியில் சூறாவளி காற்று 45-55 கிலோமீட்டர் வேகத்தில் வீசக்கூடும் என்ற எச்சரிக்கையும் உள்ளது. ஆகையால் இந்தப் பகுதிகளில் மீனவர்கள் மீன் பிடிக்க செல்ல வேண்டாம் என எச்சரிக்கப்படுகிறார்கள். .

தமிழக கடலோரப் பகுதிகளில் குளச்சல் முதல் தனுஷ்கோடி வரை நாளை அதாவது செப்டம்பர் 11, வெள்ளியன்று நள்ளிரவு வரை கடல் அலை 3.0 முதல் 3.9 மீட்டர் வரை எழும்பக்கூடும் என்றும் கூறப்பட்டுள்ளது.

இதை மனதில் வைத்துக்கொண்டு மக்கள் கடற்கரை அருகில் செல்வதை தவிர்க்க வேண்டும் என்றும் எச்சரிக்கப்பட்டுள்ளது.

மொத்தத்தில் அடுத்த சில நாட்களுக்கு தமிழகம் முழுவதுமே பரவலான மழையை எதிர்பார்க்கலாம் என வானிலை ஆய்வு மையத்தின் கணிப்பின் மூலம் புரிந்து கொள்ள முடிகிறது.

ALSO READ: இந்தியாவில் விரைவில் கிடைக்கும் COVID மருந்து: Reda-x-ஐ வெளியிடவுள்ளது Dr. Reddys





Source link

रैपर 'रफ्तार' और बिदाई फेम 'सारा खान' को हुआ कोरोना…..



बॉलीवुड और पंजाबी रैपर “रफ्तार” कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इस बात की जानकारी उन्होंने खुद इंस्टाग्राम के माध्यम से देते हुए लिखा, “दोस्तों, मैं आप के साथ एक खबर साझा करना चाहता था। मुझे रोडीज पर जाना था। इसके लिए मुझे कोविड-19 का टेस्ट करवाना पड़ा। पहले के दो परीक्षणों में मेरी रिपोर्ट नेगेटिव आई, लेकिन आज नतीजा पॉजिटिव आया है। बीएमसी ने मुझे आइसोलेशन में रहने के निर्देश दिए हैं, इसलिए मैंने घर पर ही खुद को आइसोलेट कर लिया है।”

वहीं दूसरी ओर बिदाई फेम “सारा खान” भी कोरोना पॉजिटिव आई है। उन्होंने इंस्टाग्राम पर लिखा, “दुर्भाग्य से में कोरोना पॉजिटिव हो गई हूं, अथॉरिटी और डॉक्टर ने मुझे घर में क्वारन्टीन कर दिया है। फिलहाल मैं ठीक महसूस कर रही हूं और जल्दी रिकवर होने की कामना करती हूं।” आपको बता दें कि कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है इसने कई फिल्मी और टीवी कलाकारों को अपनी चपेट में ले लिया है।



Source link

স্যার আইপ্যাক থেকে বলছি, TMC নেতাদের ফোন করে তথ্য সাবাড় করল আইটি সেল!


কমলিকা সেনগুপ্ত

‘হ্যালো, স্যর আইপ্যাক (IPAC) থেকে বলছি, মানে প্রশান্ত কিশোরের টিম। আপনার সঙ্গে কিছু কথা ছিল।’

গত সপ্তাহে এমন কয়েকটি ফোনই গিয়েছে তৃণমূল নেতাদের কাছে। স্বাভাবিকভাবেই ফোনের ওপ্রান্তে থাকা ব্যক্তিকে তথ্য দিয়ে সাহায্য করেছেন। আর করবেন না-ই বা কেন! মমতা বন্দ্যোপাধ্যায়ের (Mamata Banerjee) ভোটকৌশলী বলে কথা। পরে খোঁজখবর নিয়ে তৃণমূল নেতৃত্ব জানতে পারেন, ওই কলগুলি প্রশান্ত কিশোরের (Prashant Kishor) দলের কারও কাছ থেকে আসেনি। অভিযোগ, এ নাকি প্রতিপক্ষের আইটি সেলের কারসাজি।                          

লোকসভা ভোটে তৃণমূলের আসন কমার পর রণকৌশলী প্রশান্ত কিশোরের সঙ্গে গাঁটছড়া বাঁধে তৃণমূল। ইতিমধ্যেই প্রশান্তের মস্তিষ্কপ্রসূত ‘দিদিকে বলো’,’বাংলার গর্ব মমতা’র মতো কর্মসূচির সূচনা হয়েছে রাজ্যে। সিপিএম নেতৃত্ব অভিযোগ করেছে, তাদের নেতাদের দলে টানতে ফোন করেছে আইপ্যাক। এবার প্রশান্তের ওই সংস্থার নাম করে গত সপ্তাহে একাধিক ফোন উত্তর ২৪ পরগনার তৃণমূল নেতানেত্রীদের কাছে গিয়েছে বলে তৃণমূল সূত্রে খবর। ফোনে আইপ্যাকের নাম করে তৃণমূলের সংগঠন সংক্রান্ত নানা তথ্য চাওয়া হয়। প্রশান্ত কিশোরের সংস্থাকে তথ্য দিয়ে সহযোগিতা করেন তৃণমূল নেতারা। পরে তাঁরা খোঁজ নিয়ে জানতে পারেন, গোটাটাই ভোঁ ভাঁ। প্রশান্ত কিশোরের সংস্থা কোনও ফোনই করেনি।

তাহলে আইপ্যাকের নাম ভাড়িয়ে কারা ফোন করল? খাদ্যমন্ত্রী জ্যোতিপ্রিয় মল্লিকের মুঠোফোনও ভেসে উঠেছিল ওই নম্বরটি। তাঁর অভিযোগ, টিম পিকে-র নামে বিজেপির আইটি সেল তথ্য হাতিয়ে নেওয়ার চেষ্টা করছে। 

এমন ‘ষড়যন্ত্র’-র অভিযোগ আসার পর নড়চড়ে বসেছে তৃণমূল শিবির। একুশের যুদ্ধে প্রতিপক্ষ যে শাসক দলের কৌশল জানতে চাইবে, তাতে বিস্ময়ের কিছু নেই। এমতাবস্থায় দলের নেতানেত্রীদের সতর্ক করেছে তৃণমূলের শীর্ষ নেতৃত্ব। সমস্ত নেতাদের ফোনে গিয়েছে বার্তা। তাতে রয়েছে প্রশান্ত কিশোরের সংস্থার লোকেদের নামধাম। এর সঙ্গে স্পষ্ট নির্দেশ, এই নম্বরগুলির বাইরে কাউকে তথ্য দেওয়া চলবে না। তৃণমূলের অভিযোগ উড়িয়ে দিয়েছে বিজেপি। তাদের দাবি, খেয়েদেয়ে কাজ নেই, তৃণমূল নেতাদের ফোন করে তথ্য জোগাড় করতে হবে! মানুষই ওদের সঙ্গে নেই।                                  

এককালে রাজনীতির মানে ছিল, পোস্টার ছাপা, দেওয়াল লিখন, বাড়ি বাড়ি প্রচার। ফোর জি যুগে আমূল বদলে গিয়েছে ভোটের রণনীতি। ‘কর্পোরেট কালচার’-এর ছোঁয়ায় ভোট আর শুধু মাঠে-ঘাটের লড়াইয়ে আটকে নেই। গোটা ঘটনাক্রম আরও একবার সেদিকেই ইঙ্গিত করল।

আরও পড়ুন- CPM-র কী আছে? মতাদর্শ, ভাঙাতে এসে দেবেশ দাসের কাছে শুনল PK-র লোক        





Source link

Astronaut kalpana chawla, Kalpana Chawla Spacecraft, NASA, US Spacecraft | Kalpana Chawla: அமெரிக்க விண்கலத்திற்கு கல்பனா சாவ்லா பெயர் சூட்டப்பட்டது..!!!


விண்வெளி வீராங்கனை கல்பனா சாவ்லாவை யாராலும் மறக்க முடியாது. 

இந்திய வம்சாவழியை சேர்ந்த கல்பனா சாவ்லா, விண்வெளிக்கு சென்ற முதல் இந்திய பெண் என்ற பெருமைக்குரியவர். கடந்த 2003ம் ஆண்டு விண்வெளி ஆராய்ச்சிக்காக அமெரிக்கா அனுப்பிய கொலம்பியா விண்கலத்தை அனுப்பியது.  STS-107 என்ற அந்த விண்கலத்தில் கல்பனா சாவ்லா உள்ளிட்ட 7 விண்வெளி வீரர்கள் பயணித்தனர். அவர்கள் தங்கள் மிஷனை மீண்டும் பூமிக்கு திரும்பிய போது விண்கலம் வெடித்து சிதறியதில் அவர் உயிரிழந்தார். 

கல்பனா சாவ்லாவை கவுரவிக்கும் வகையில், அமெரிக்கா சர்வதேச விண்வெளி மையத்திற்கு பொருட்களை எடுத்து செல்லும் விண்கலத்திற்கு நாசாவின் மறைந்த விண்வெளி வீராங்கனை கல்பனா சாவ்லா நினைவாக, அவரது பெயரை சூட்டியுள்ளது. 

விண்வெளித்துறையில் அவர் அளித்த பங்களிப்பிற்காக அவருக்கு இந்த மரியாதை வழங்கப்பட்டுள்ளது.

கல்பனா சாவ்லா விண்வெளிக்குச் சென்ற முதல் இந்தியப் பெண் ஆவார்.

அமெரிக்க உலகளாவிய விண்வெளி மற்றும் பாதுகாப்பு தொழில்நுட்ப நிறுவனமான நார்த்ரூப் கிரஹ்மான்,  2003 ஆம் ஆண்டில் கொலம்பியாவில் விண்கலத்தில் ஆறு பேர் கொண்ட குழு விண்வெளிக்கு பயணம் மேற்கொண்ட மிஷன்  நினைவாக “எஸ்.எஸ். கல்பனா சாவ்லா” என்று பெயரிடப்படுவதாக அறிவித்தார். 

 “நாசாவில் வரலாறு படைத்த கல்பனா சாவ்லாவை, இந்திய வம்சாவளியைச் சேர்ந்த முதல் பெண் விண்வெளி வீராங்கனையை நாங்கள் கவுரவிக்கிறோம். மனிதர்கள் ஏற்றிச் சென்ற விண்கலம் தொடர்பான மிஷனில் அவர் அளித்த பங்களிப்பு நீண்டகால தாக்கத்தை ஏற்படுத்தும். ” என அந்நிறுவனம் தனது ட்வீட்டில் குறிப்பிட்டுள்ளது.

நிறுவனம் தனது இணையதளத்தில், “முன்னாள் விண்வெளி வீரர் கல்பனா சாவ்லாவின் பெயரை என்ஜி -14 சிக்னஸ் ( NG-14 Cygnus) விண்கலத்திற்கு பெயரிடுவதில் நார்த்ரோப் கிரஹ்மன் நிறுவனம் பெருமிதம் கொள்கிறது. மனிதர்களை விண்வெளிக்கு அனுப்பும் மிஷனில் முக்கிய பங்கு வகித்த நபர்களை கவுரவிப்பது நிறுவனத்தின் பாரம்பரியமாகும்” என கூறியுள்ளது.

“விண்வெளிக்குச் சென்ற முதல் இந்தியப் பெண்மணி  என வரலாற்றில் தனது முக்கிய இடத்தை பெற்றுள்ள அவரை கவுரவிப்பதற்காக சாவ்லா தேர்ந்தெடுக்கப்பட்டார்” என்று அவர் கூறினார்.

ALSO READ | விண்வெளிப்பயணம் மேற்கொண்ட எலிகள் ‘பாடி பில்டர்களாக’ திரும்பின…!!!





Source link

रिया के खिलाफ कमेंट किया तो भड़की शिबानी दांडेकर, अंकिता लोखंडे को बताया पितृसत्ता की राजकुमारी



दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत को कथित तौर पर ड्रग का सेवन करने देने पर अंकिता लोखंडे द्वारा रिया चक्रवर्ती को फटकार लगाए जाने के बाद अभिनेत्री व वीजे शिबानी दांडेकर रिया के समर्थन में सामने आ गई हैं। शिबानी ने अपने इंस्टाग्राम स्टोरी में अंकिता को पितृसत्ता की राजकुमारी कहा है। शिबानी ने लिखा, ‘(अंकिता) द्वारा लिखा गया एक विचित्र पत्र। पितृसत्ता की यह राजकुमारी, जो सुशांत के साथ अपने रिश्ते के मुद्दों को कभी नहीं निपटा पाई है, स्पष्ट रूप से वह अपनी दो सेकेंड की प्रसिद्धि चाहती है और इसके लिए रिया को लक्षित किया जा रहा है। उन्होंने आगे लिखा, उसने इस विच-हंट में एक प्रमुख भूमिका निभाई है और उसे बाहर बुलाया जाना है! साथ ही उसे अपना मुंह बंद करने की जरूरत है। बहुत हुआ अंकिता! तुमसे ज्यादा नफरत किसी के दिल (?) में नहीं होगा।

शिबानी का पोस्ट रिया के खिलाफ अंकिता की टिप्पणी के जवाब में था। अंकिता ने पोस्ट किया था, ‘प्रिय नफरत करने वालो! चलिए, मान लेते हैं कि आपको अपने दोस्त के बारे में पता चल गया होगा और उसके जीवन और रिश्ते में क्या चल रहा होगा। ये भी पता होगा। खुशी है कि आप आखिरकार जाग गए, लेकिन मैं चाहती थी कि आप जल्दी जागें और अपने दोस्त को सुशांत द्वारा किसी भी तरह की नशीली दवाओं का सेवन करने का समर्थन नहीं करने की सलाह देते। वह सार्वजनिक रूप से यह कह रही है कि वह सुशांत की मानसिक स्थिति के बारे में अच्छी तरह से जानती थी कि वह अवसाद में है।

रिया के खिलाफ कमेंट किया तो भड़की शिबानी दांडेकर, अंकिता लोखंडे को बताया पितृसत्ता की राजकुमारी

अंकिता ने आगे लिखा, क्या उसे एक अवसादग्रस्त आदमी को ड्रग्स का सेवन करने देना चाहिए था? यह कैसी मदद है? किसी भी व्यक्ति की हालत इस स्तर तक बिगड़ सकती थी, जो एसएसआर द्वारा उठाए गए कदम के लिए मजबूर हो जाए। उस समय वह उनकी सबसे करीबी व्यक्ति थी। रिया को लेकर अन्य प्रश्न उठाते हुए अंकिता ने कहा, एक तरफ, वह कहती है कि वह एसएसआर के अनुरोध पर स्वास्थ्य की बेहतरी के लिए सभी डॉक्टरों के साथ समन्वय कर रही थी, और दूसरी ओर, वह उसके लिए ड्रग खरीद रही थी। क्या कोई ऐसा व्यक्ति होगा, जो किसी को इतनी गहराई से प्यार करने का दावा करता है, दूसरी ओर उस व्यक्ति को उसकी मानसिक स्थिति जानने का दावा करने बावजूद ड्रग का सेवन करने की अनुमति देता है? आप ऐसा करेंगे? अंकिता ने कहा, मुझे नहीं लगता कि कोई भी ऐसा होगा। तो इसे लापरवाही और गैरजिम्मेदारी के कार्य के रूप में कैसे नहीं देखा जाए? उसके अनुसार, उसने सुशांत के परिवार को उसके चल रहे इलाज के बारे में सूचित किया था, लेकिन क्या उसने कभी उन्हें उसके ड्रग लेने के बारे में सूचित किया? मुझे यकीन है कि उसने ऐसा नहीं किया होगा, क्योंकि शायद वह खुद इसे लेने के मजे में होगी। ..और यही कारण है कि मुझे लगता है कि यह कर्म/भाग्य का फल है।



Source link

Kolkata: Three hospitals penalized for Covid treatment lapse | Kolkata News


KOLKATA: The West Bengal Clinical Establishment Regulatory Commission has asked three hospitals to pay compensation to the family of a deceased Covid patient — two of them for refusing to admit the patient and the third one for not providing ICU treatment even though he was admitted in the ICU. The 78-year-old Rishra resident had died in a fourth hospital.
Alok Nath Banerjee, a COPD patient with other co-morbid condition, was brought to Fortis Hospital on July 3 with Covid symptoms. After stabilising the patient, doctors at the hospital said the patient needed ICU care and regretted that no ICU bed was vacant.

According to the complaint lodged by Enakshi Mukherjee, the deceased’s daughter, they got in touch with All Asia Medical Institute (AAMI) in Gariahat. She claimed that the hospital offered an ICU bed but refused admission on arrival. The patient was then taken to Fleming Nursing Home, where the patient allegedly was not given ICU care. Within two-three hours, the family shifted him to an Ekbalpore nursing home, where he died four days later.
“The commission has directed Fortis to pay Rs 1 lakh and AAMI and Fleming to pay Rs 50,000 each to the family. If the patient’s family does not accept the amount, the commission will give it to the CM’s Covid Relief Fund,” said Justice Ashim Kumar Banerjee.
According to a statement issued by Arafat Faisal, head (medical service) of Fortis Hospital. Anandapur, the patient was stabilised in the emergency unit and the hospital even arranged for an ambulance when the family said they had found a bed in another hospital. “While we respect the judgment, we want to state that we have no control over availability of bed in other hospitals,” said Faisal.
“We have no record of such patient being asked to bring to our hospital or being refused admission. We are waiting for a copy of the judgment after which we would appeal to the commission for a review,” said AAMI director Harshvardhan Agarwal.
Calls to Fleming Nursing Home went unanswered.
In other judgment, the commission has asked Medica Superspecialty Hospital to refund Rs 40,000 to the family of a patient whose bill amounted to Rs 1.8 lakh for three-day admission. The hospital said it would carry out the commission’s directives. The commission has also intervened in a case of a 52-year-old patient from Diamond Harbour who was admitted at Medica for 77 days. The hospital had to discharge the patient with Rs 19 lakh dues. The patient’s family has complained to the commission that the hospital was threatening them, a claim denied by the hospital.



Source link